Wednesday, May 23, 2018

कुछ नई पंक्तिया
--------------------------

सीमा पर जवान , खेतों में किसान मर रहे है
और
योगी की गाय , मोदी के सांड देश चर रहे है .
वादों की पोटली को सीने से लगा कर रखना , मोदी जी तीसरे दिन  रेडियो पर मन की बात कर रहे है .......

लोकतंत्र का नारा तो अब लगता अब उबाऊ है
और
नोटतंत्र है भारी सब पर अब तो एक एक वोट बिकाऊ है 

1 comment:

Pradeep Dwivedi said...

हकीकत बयां की है